Tag Archives: SAD SHAYARI

दर्द शायरी , एक सच है जिसे में छुपा नहीं पाता

दर्द शायरी

एक दास्ताँ है जिसे में समझ नहीं पाता-ज़िन्दगी
एक रास्ता है जिसपे में चल नहीं पता -वर्तमान
एक सपना है जिसे में जी नहीं पाता-आज़ादी
एक सच है जिसे में छुपा नहीं पाता-दर्द

Zindagi ka safar – Hindi motivational poem

Zindagi ka safar ,hindi poem,hindi motivational poem,sad hindi poem,intzaar poem in hindi, poem on zindagi ka safar,latest hindi poem  zindagi ka safar




FABCEBOOK PAGE

ज़िंदगी के सफ़र में तन्हा चलते रहे हम
मंज़िल न थी फिर भी आगे बढ़ते रहे हम

चाहत थी यही कोई हमारा भी हो
पर कैसे कोई करीब आता
खुद के लिये भी तो अजनबी ही रहे हम

ढूंढते रहे हम इस जहा में हमसफ़र अपना
रिश्तों की डोर से टूटते रहे हम

तन्हाइयो का मंज़र और दर्द भरा आलम था
ज़िंदा न थे फिर भी जीते रहे हम

गम को मिटाने , दिल को बहलाने
अपने ही आसु पिते रहे हम

आँखों में इंतज़ार था ज़िंदगी की नयी सुबह
के उगते सूरज का
बस इसी इंतज़ार में अबतक जीते रहे हम

Hindishayariclub- a site for  shayari की  ये रचना zindagi ka safar आपको कैसी लगी  comment के माध्यम के  हमे  जरुरु बताये .पसंद आने पर  अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करे 




और भी पढ़े :

                   में ज़िंदगी से ज़िंदगी मुझसे प्यार करती है

                   आखिरी सास तक तेरा इंतज़ार भी है

                थोड़ा रुककर चल-ज़िंदगी

                 ज़िंदगी आज तुझसे मुलाकात हो गयी

                जिंदगी से समझोता1

Sad Hindi Poem Ashq

Very Sad Hindi Poem Ashq

Sad hindi poem Ashq , Sad hindi poem on life

ये सब्र की इन्तेहां है तुम्हारी
रुक जाओ अभी न आना बहार अभी
लोग तुम्हें देखेंगे सवाल मुझपे उठेंगे
कुश पल में ही जुदा होंगे हम इस महफिल से
जाके बैठेंगे हम तन्हाई के घर में
जहाँ होंगा अंधेरा,न होंगा चिराग कोई
वहा तुम बहार आना मेरे नयनो से
उतरके मेरी पलकों से,
भीगा देना चेहरा मेरा
दिल बहल जायेंगा
सुकून मिल जायेंगा
भीग जायेंगा मेरा दर्द
मुख़्तसर दर्द पिघल जायेंगा
बेचैन सी सासो को आराम मिल जायेंगा
महज़ ये न भूलना
इस दर्द ए जुदाई में
तेरा अक्स मिट जायेंगा
*****************




में ज़िंदगी से ज़िंदगी मुझसे प्यार करती है

Zindagi poem in hindi font, Best Zindagi poem in hindi

Zindagi poem in hindi font

ज़िंदगी में सुबह नहीं अब शाम होती है
कुसूर नहीं ज़िंदगी का फिर भी बदनाम होती है

बीते पलो की तरह
दर्द बन जाता है हर नया पल यहाँ
खुश रहने की एक और कोशिश नाकाम होती है
ये जिंदगी रोज एक नया इंतकाम देती है

बुलंद है हौसला,खुला है आसमां
फिर एक नयी सुबह का इंतज़ार करती है
शुक्र है खुदा का ये ज़िंदगी देने के लिये
तन्हा सफ़र में मेरी ज़िंदगी भी मेरा साथ देती है
कुश इस तरह गुजारा करती है
में ज़िंदगी से, ज़िंदगी मुझसे प्यार करती है



FACEBOOK PAGE LIKE KARE

 

Latest Hindi Shayari – Yade Love and Sad

Dard Shayari -Ashq