Hindi Kavita दर्द नहीं फरियाद नहीं

दर्द नहीं फरियाद नहीं




Sad Boy Pic - Hindi Kavita दर्द नहीं फरियाद नहीं

 

 

 

 

 

 

 

 

 

दर्द नहीं फरियाद नहीं
इश्क क्या था मुझे याद नहीं
फ़ना होके मुकम्मल हुआ
मुकम्मल होके फ़ना
जहा से ले गया था प्यार
वही छोड़ गया फिर एक बार

सितम नहीं जुलम नहीं
हाथ में कलम वही
लिखकर मिटा दिया
लिखा जो अफसाना
अब मुझे याद नहीं

शिकवा नहीं शिकायत नहीं
जो बीत गया
उसकी कोई बात नहीं
हुआ था प्यार कभी
अब मुझे याद नहीं



(Visited 15 times, 1 visits today)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *