Category Archives: Zindagi Shayari

ज़िंदगी में कुश नया जरुरी है – Hindi kavita zindagi

ज़िंदगी में कुश नया जरुरी है- Hindi kavita zindagi

Hindi kavita zindagi image hindi shayari

 




ज़िंदगी में कुश नया जरुरी है
रात के बाद सवेरा जरुरी है

मिलते है लोग किसी वजह से
कभी बेवजह मिलना भी जरुरी है

ख़ुशी के लिये कमाते है लोग
सच तो ये है
अच्छे काम के लिए खुश रहना  जरुरी है

डॉक्टरों के चिकित्सालय खचाखच भरे है
एक के पीछे दस मरीज खड़े है

अपने अंदर ही हर खुशी का समंदर है
न जाने क्यों लोग पैसो के पीछे दौड़ पड़े है

कितने अजीब है ये दुनिया की लोग
जिसकी कोई कीमत नहीं
उस ख़ुशी को पाने के लिए धन जुटा रहे है




 

**********************************

Search- hindi kavita zindagi, new hindi kavita zindagi

Related Post

Best Shayari collection on zindagi

थोड़ा रुककर चल-ज़िंदगी – हिंदी कविता ज़िंदगी

Zindagi ka safar – Hindi motivational poem

में ज़िंदगी से ज़िंदगी मुझसे प्यार करती है

Zindagi kah du

 

थोड़ा रुककर चल-ज़िंदगी – हिंदी कविता ज़िंदगी

थोडा रुक कर चल ज़िंदगी
थोड़ा झुककर चल ज़िंदगी
उलझ गयी है राहे सभी
जरा सँभलकर चल ज़िंदगी
सावन है आँखों से बहता
भीगा है खामोश चेहरा
दर्द की कैद से कुश न कहता
सहमा सहमा है ये गुमसुम चेहरा
हर तरफ है कोहरा घना
मुश्किल हो गया है साँस लेना
दूर दूर तक कोई नहीं
मंज़िल तक है सफ़र तन्हा
इस दर्द भरे आलम में
मुमकिन नहीं अब दौड़ना
थोडा रुक कर चल ज़िंदगी
थोड़ा झुककर चल ज़िंदगी
उलझ गयी है राहे सभी
जरा सँभलकर चल ज़िंदगी

Zindagi ka safar – Hindi motivational poem

Zindagi ka safar ,hindi poem,hindi motivational poem,sad hindi poem,intzaar poem in hindi, poem on zindagi ka safar,latest hindi poem  zindagi ka safar




FABCEBOOK PAGE

ज़िंदगी के सफ़र में तन्हा चलते रहे हम
मंज़िल न थी फिर भी आगे बढ़ते रहे हम

चाहत थी यही कोई हमारा भी हो
पर कैसे कोई करीब आता
खुद के लिये भी तो अजनबी ही रहे हम

ढूंढते रहे हम इस जहा में हमसफ़र अपना
रिश्तों की डोर से टूटते रहे हम

तन्हाइयो का मंज़र और दर्द भरा आलम था
ज़िंदा न थे फिर भी जीते रहे हम

गम को मिटाने , दिल को बहलाने
अपने ही आसु पिते रहे हम

आँखों में इंतज़ार था ज़िंदगी की नयी सुबह
के उगते सूरज का
बस इसी इंतज़ार में अबतक जीते रहे हम

Hindishayariclub- a site for  shayari की  ये रचना zindagi ka safar आपको कैसी लगी  comment के माध्यम के  हमे  जरुरु बताये .पसंद आने पर  अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करे 




और भी पढ़े :

                   में ज़िंदगी से ज़िंदगी मुझसे प्यार करती है

                   आखिरी सास तक तेरा इंतज़ार भी है

                थोड़ा रुककर चल-ज़िंदगी

                 ज़िंदगी आज तुझसे मुलाकात हो गयी

                जिंदगी से समझोता1

में ज़िंदगी से ज़िंदगी मुझसे प्यार करती है

Zindagi poem in hindi font, Best Zindagi poem in hindi

Zindagi poem in hindi font

ज़िंदगी में सुबह नहीं अब शाम होती है
कुसूर नहीं ज़िंदगी का फिर भी बदनाम होती है

बीते पलो की तरह
दर्द बन जाता है हर नया पल यहाँ
खुश रहने की एक और कोशिश नाकाम होती है
ये जिंदगी रोज एक नया इंतकाम देती है

बुलंद है हौसला,खुला है आसमां
फिर एक नयी सुबह का इंतज़ार करती है
शुक्र है खुदा का ये ज़िंदगी देने के लिये
तन्हा सफ़र में मेरी ज़िंदगी भी मेरा साथ देती है
कुश इस तरह गुजारा करती है
में ज़िंदगी से, ज़िंदगी मुझसे प्यार करती है



FACEBOOK PAGE LIKE KARE

 

Latest Hindi Shayari – Yade Love and Sad

Dard Shayari -Ashq

 

शुक्रिया ये ज़िंदगी देने के लिए

जब कुश भी न रहा ज़िंदगी में जीने की लिए
तब रह दिखाई तूने मुझे आगे बढ़ने के लिए
न भूलूँगा तुझे कभी मेरे मालिक
शुक्रिया ये ज़िंदगी देने के लिए

दर्द शायरी ख्वाबो में भी कोई तन्हा छोड़ जाता है

दर्द शायरी  ख्वाबो में भी कोई तन्हा छोड़ जाता है

दर्द शायरी ख्वाबो में तन्हा

खो जाता है अपनो का साथ

जब दर्द ज़िंदगी का हिस्सा बन जाता है

ये  वो पल होता है जुदाई का

जब ख्वाबो में भी कोई तन्हा छोड़ जाता है

facebook से जुड़े फेसबुक पेज हिंदी शायरी क्लब

ज़िंदगी आज तुझसे मुलाकात हो गयी

ज़िंदगी, ज़िंदगी कविता,ज़िंदगी आज तुझसे मुलाकात हो गयी
**************

उम्मीदों से यारी हो गयी ऐसी

मानो खुशियों से मिलने की तैयारी हो गयी

गम होने लगे जुदा ऐसे

मानो खुशियों के आने की बारी आ गयी

बहुत लंबी चली ये दर्द की राते

हौसलो ने सांस ली ऐसे

मानो सुबह की शुरुआत हो गयी

एक ही सवाल रहता था जुबा पर मेरी

क्या होती है ज़िंदगी

उम्मीदों के चिरागों रौशनी की ऐसी

मानो ज़िंदगी आज तुझसे मुलाकात हो गयी