Monthly Archives: January 2015

Itni nafrat na kar

Itni nafrat na kar mujhse e zindagi

 

इतनी नफरत न कर मुझसे ए जिंदगी 

कही मेरा  दिल तुझे भी गैर न समझ के 

और मेरी सासें तुझे अपना दुश्मन समझ ले 

तेरे छोड़ने से पहले कही वो तेरा साथ न छोड़ दे

 

Har man leta hu raat ka andhera dekhkar

Jeet than leta hu subah ka suraj dekhkar

Mushkile to har pal aati hai

Bas muskura jata hu Dil me nayi umeed jagakar

Heart touching hindi love poem Aashiqui

Heart touching hindi love poem Aashiqui

hindi love poem aashiqui, latest hindi love poem aashiqui, Best hindi love poem aashiqui



छा गये हो तुम मेरी ज़िंदगी में
लूट गए हम यु ही बेखुदी में
चाहा तो न था ये दिल किसी और को देना
ज़रूरी था ये भी आशिक़ी में

Continue reading