मेरी पहली हिंदी शायरी

काश आज फिर वो जीने की वजह मिल जाये,

hindi shayari

hindi shayari

और वो पल मिल जाये,

जो भुलाकर भी भुला ना जाये,

आज फिर सोचता हू कि सो जाऊ असल में नहीं तो,

वो पल सपनों में ही मिल जाये।

(Visited 895 times, 1 visits today)